Aadarsh Rathore
कल खुश था कि दुखी होने का कोई कारण नहीं था
ग़मगीन हूं आज कि खुश होने का बहाना तक नहीं
2 Responses
  1. वीना Says:

    वाह क्या बात है....

    http://veenakesur.blogspot.com/


  2. Sunil Kumar Says:

    शेर बहुत खुबसूरत बधाई