Aadarsh Rathore
इससे पहले कि मैं इस बार हुए भुतहा अनुभव के बारे में बात करूं, कुछ और कहना चाहता हूं। जिस रोहित नाम के लड़के ने डरकर पेइंग गेस्ट छोड़ दिया था..। उसके बारे में मैंने पीजी के पुराने लड़कों से पूछताछ की..। उनका कहना है कि रोहित ने बताया था कि कोई बार-बार दरवाज़ा खटखटा रहा था..। जब रोहित ने दरवाज़ा खोला तो उसने किसी अजीव सी चीज़ को भागते हुए देखा था..। रोहित के मुताबिक उसका कद कम था लेकिन वह श्वेत सा और पारभासी था..। यही नहीं उसके लंबे बाल भी थे..। लेकिन ये सब कुछ बहुत जल्दी हुआ था और उसे इस आकृति की झलक ही थी दिखी थी..।

मैंने कहीं से रोहित का नंबर भी अरेंज किया और इस बारे में बात की..। पहले तो वह मेरी मूर्खता पर हंसा और बाद में मेरी जिद पर उसने आपबीती कह सुनाई...। सब कुछ वैसा ही हुआ था.. जैसा कि मैंने सुना..। लेकिन रोहिता ने कहा कि शायद ये उसका भ्रम था..। खैर, वक्त के साथ तो जैसे ही ज़ख्मों के निशां मिट जाते हैं तो आदमी को लगता है कि शायद ये भी भ्रम ही था कि मैं कभी चोटिल था..। लेकिन जब से मैंने रोहित वाला किस्सा सुना है तब से माहौल और भी भुतहा लगता है। अब ये तो साइकोलॉजिकल मामला ही है..।

चलिए एक और अजीब सी बात बताता हूं। पीजी के ग्राउंड फ्लोर पर एक कमरा है..। मेरे एक परम मित्र उसी कमरे में रहते हैं। हालांकि उन्हें कभी कोई ऐसा भुतहा अनुभव नहीं हुआ लेकिन फिर भी उनके कमरे का पंखा कुछ अजीब सा है..।
वह कई बार अपने-आप ही चलने लगता था तो कभी अपने आप ही रुक जाता था। शायद वायरिंग में कोई खराबी होगी इसलिए अंकल से कहकर वायरिंग और स्विच भी बदलवा दिए गए। लेकिन ये सिलसिला थमा नहीं। एक दिन तो हद ही हो गई..। रात भर पंखा चलता रहा और सुबह उसे बंद करके मेरे मित्र अपने ऑफिस चले गए। लेकिन जब वो वापस लौटे तो पंखा गायब था..। वो घबरा गए...। उन्होंने देखा कि पंखा खुलकर उनके सिरहाने के पास गिरा हुआ है..। सोचिए, अगर यह पंखा उनके रहते हुए गिरा होता तो? पंखा चलते वक्त नहीं गिरा बल्कि बाद में गिरा..। ये बात वाकई हैरान करने वाली है....।
पिछली पोस्ट पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
इस पीजी के बारे में कुछ और बातें भी हैं...। अगली पोस्ट में कुछ दूसरे रहस्यों के बारे में आपको बताऊंगा। ऐसी बातें जिन्हें सोचकर एक बार आप भी सोचने पर मजबूर हो जाएंगे...।
5 Responses
  1. आदर्श भाई मामला गर्मा रहा है,रोचकता बढ़ रही है। अगली पोस्ट जल्द लिखना, और टैग देना" क्या भूत होते हैं"?

    अगली पोस्ट का इतजार रहेगा


  2. देखें अब अगली पोस्ट में क्या रहस्य उजागर करते हैं आप...


  3. सचमुच इस दुनिया में इतने रहस्‍य हैं .. या लोगों का भ्रम है ये सब .. अभी तक कुछ भी फैसला नहीं कर पायी हूं !!


  4. कोई मेरी तरह से शरारत कर रहा है, ओर कुछ नही


  5. Ramnaresh Says:

    Yaar tumhari aur tumhare dost ki himmat ki to dad deni hogi....aakhir tum log us PG me rahte kaise ho????????????


    Darrrrrrr nahin lagta kya?